भारत की इकनॉमी को कैसे देखते हैं बड़े इकनॉमिस्ट, कैसे मिलेगा बूस्ट?
Big Story HindiOctober 15, 202000:14:26

भारत की इकनॉमी को कैसे देखते हैं बड़े इकनॉमिस्ट, कैसे मिलेगा बूस्ट?

भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर एक ताजा रिपोर्ट में जो अंदाजा लगाया गया है, वो काफी ज्यादा परेशान करने वाला है. इसके मुताबिक भारतीय इकनॉमी पर इस महामारी का काफी ज्यादा और बुरा असर पड़ा है. हालात कुछ ऐसे हैं कि 5 ट्रिलियन इकनॉमी का सपना तो फिलहाल शायद फिलहाल सपना ही रहेगा.

इंटरनेशनल मोनेटरी फंड (IMF) के मुताबिक़ बांग्लादेश, जो कल तक भारत से जीडीपी की रेस में काफी ज्यादा पीछे रहता था, वो तक महामारी के बावजूद प्रति व्यक्ति आय डीजीपी में हम से शायद आगे निकल जाएगा। आज पॉडकास्ट में ना सिर्फ इस हैरान और परेशान करने वाली रिपोर्ट पर बात करेंगे बल्कि भारत कि अर्थव्यवस्था पर काबू पाने के लिए क्या-क्या किया गया, क्या गलितयां हुई हैं, और आगे इकनॉमिक प्लानिंग कैसे हो सकती है, इस पर अजा पॉडकास्ट में सुनिए कई बड़े एक्सपर्ट्स को.

IMF की चीफ इकनॉमिस्ट डॉ गीता गोपीनाथ ने ग्लोबल इकॉनमी और भारत की इकॉनमी पर कई फोरकास्ट की हैं, और ये सब उन्होंने क्विंट के एडिटोरियल डायरेक्टर संजय पुगलिया से एक खास बातचीत में बताया है. इन के अलावा, इकनॉमी के खस्ता हाल को लेकर कोटक महिंद्रा बैंक के MD और CEO उदय कोटक, और पूर्व वित्त सचिव सुभाष गर्ग को भी आप सुनेंगे.

रिपोर्ट: फबेहा सय्यद
इनपुट्स: संजय पुगलिया
असिस्टेंट एडिटर: मुकेश बौड़ाई
म्यूजिक: बिग बैंग फज